जशपुरान्चल
Tuesday 16 April 2024 03:04 AM


Breaking News
गौ मांस तस्कर के शातिर व अन्तिम अपराधी को पुलिस ने किया गिरफ्तार    |    बिजली की बदहाल व्यवस्था को लेकर ग्रामीण महिलाओं ने बिजली कार्यालय का किया घेराव    |    मुंबई के रिहायशी इलाके में क्रैश हुआ एक चार्टर्ड प्लेन, 5 लोगों की मौत    |    कोतबा पुलिस चौकी ने गांजा तत्स्करी कर ओडिसा ले जा रहे कार को पकड़ा ।    |    BIG BREKING: छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलराम जी दास टंडन का दुखद निधन    |    देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन    |    ब्रेकिंग : भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुस जैश के आतंकी कैंपों को किया ध्वस्त: सूत्र    |    देश सहित राज्य के सभी जिला व क्षेत्रीय अस्पताल अलर्ट पर हैं ,पर इस पंचायत की स्वास्थ्य व्यवस्था की कोई सूद लेने वाला नहीं लटक रहा टाला    |   

कोरोना की चैन तोड़ने जारी लॉकडाउन ने तोड़ी किसानों की कमर


कोरोना की चैन तोड़ने जारी लॉकडाउन ने तोड़ी किसानों की कमर
कोरोना की चैन तोड़ने जारी लॉकडाउन ने तोड़ी किसानों की कमर
19-04-21 10:12:04         sourabh tripathi


जरूरी चीजों के लिए भी चुकानी पड़ रही मोटी रकम-

कौन सुनेगा किसानों की आप बीती केन्द्र सरकार या राज्य सरकार ...?

बरमकेला। कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने जारी लाॅकडाउन अब किसानों पर भारी पड़ रहा है। लाॅकडाउन ने किसानों की मेहनत पर पूरी तरह से पानी फेर दिया है। स्थिति यह है कि किसानों की हरी सब्जियां खेतों में सड़ रही है। खासकर सब्जी उत्पादक किसान लाॅकडाउन की वजह से काफी परेशान हैं। क्योंकि लाॅकडाउन की वजह से कड़ी मेहनत मशक्कत से उगाई गई सब्जी बाजार नहीं पहुंच पा रही है। सब्जियां सड़ रही है और धनिया पत्ती खेत में ही सूख रही है। इससे किसान मायूस हैं। के चेहरे पर मायूसी छाई हुई है। 

कोरोना के कारण जारी लाकडाउन के चलते किसान अपनी उपज शहर नहीं पहुंचा पा रहे हैं। रायगढ़, महासमुंद जिला 26 व 27 अप्रैल को ही अनलॉक होंगे। तब तक सब्जी और धनिया पत्ती खेत में बर्बाद हो जाएगा।  दोनों जिले के कलेक्टर द्वारा गली मोहल्लों में ठेले में सब्जी बेचने की अनुमति दी है। अब सवाल यह है कि क्या अन्नदाताओं को अपनी उपज गांव से शहर लेकर जाकर गली गली बेचना पड़ेगा, जो संभव ही नहीं है। 

 ग्रामीण अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी- 

जिले के सारंगढ़ व बरमकेला ब्लॉक अंतर्गत छिंदपतेरा, मंजूरपाली, जगदीशपुर, हट्‌टापाली, कालाखूंटा, जोगनीपाली, करनपाली, तौंसीर, छुहीपाली समेत 100 से अधिक गांवों में सौ एकड़ कृषि भूमि पर धनिया की फसल लहलहा रही है, लेकिन लॉकडाउन की वजह से अब लहलहाती धनिया को जोतने की नौबत आ गई है। बरमकेला ब्लॉक अंतर्गत छिंदपतेरा के किसान रूपधर पटेल ने बताया कि अपनी उपज को ओडिशा या फिर महासमुंद जिले के सरायपाली में बेचते हैं। लेकिन दोनों जगहों पर लॉकडाउन होने की वजह से न तो वे अपनी उपज को व्यापारियों तक लेकर जा पा रहे हैं न ही व्यापारी उनके घर तक आ रहे हैं। लॉक डाउन की वजह से ग्रामीण अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी हो गई है।





ताजा ख़बरें









जिला मुख्यालय जशपुर में विधायक गोमती साय ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली

जशपुर।  गणतंत्र दिवस के मुख्य समरोह मे मुख्य अतिथि गोमती...